English Website हिन्दी वेबसाइट
एनजीएमए मुंबई  |  एनजीएमए बंगलुरू

Sunday, October 26, 2014


हमारा परिचय  |  इतिहास  |  शोकेस  |  प्रदर्शनी  |  संग्रह  |  प्रकाशन  |  देखने की योजना  |  हमसे संपर्क करें

आप यहां हैं:  होम  -  शोकेस  -  आधुनिक मूर्तिकला
शोकेस - आधुनिक मूर्तिकला
एनजीएमए के पास आधुनिक एवं समकालीन मूर्तिकलाओं के कुछ नायाब नमूने हैं। ये इनके निर्माण में लगी सामग्रियों एवं माध्यमों को सहेजे-संजोए रखने की भारतीय प्रतिभा के प्रमाण हैं।

भारत में शास्त्रीय मूर्तिकलाओं की सशक्त परंपरा रही है। निर्माण सामग्रियों की जन्मजात समझ और कुछ सूक्तियों ने 20वीं सदी के भारतीय मूर्तिकारों को नई ऊंचाई छूने की प्रेरणा दी। इसी प्रकार शास्त्रीय मूर्तिकला की शैलियों में पावन भावना के साथ मानवता के महिमामंडन और और आम जन-जीवन में निवेश आधुनिक मूर्तिकारों को प्रेरित करता रहा है। यूरोप के सौंदर्यवादियों द्वारा शुद्धता की तलाश ने एक नया और रोचक आयाम जोड़ दिया। असामान्य सामग्रियों के साथ प्रयोग, कभी-कभी पारंपरिक सामग्रियों के संयोग से,  रहस्यात्मक प्रभाव उत्पन्न करने की क्षमता है। शास्त्रीय परंपरा के साथ-साथ लोक एवं जनजातीय स्रोतों का कलात्मक कल्पना पर गहरा प्रभाव देखा गया है।

एनजीएमए के संग्रह में राम किंकर वैज, देवीप्रसाद राय चौधरी, शंखो चौधरी, प्रदोष दासगुप्ता, पीलू पोचकनवाला, आदि देवीरवाला, चिंतामणि कर, अमरनाथ सहगल, धनराज भगत, मीरा मुखर्जी, पीराजी सागरा, राघव कनेरिया, नागजी पटेल, हिम्मत साह, के.जी. सुब्रम्णयन, बलबीर सिंह कट्ट, लतिका कट्ट, जेरम पटेल, जगदीश स्वामीनाथन, सतीश गुजराल, मृणालिनी मुखर्जी, मदन लाल, सबरी राय चौधरी, के एस राधाकृष्णन, एस नंदगोपाल, पीवी जानकीराम, रवीन्द्र रेड्डी, एनएन रिमजोह, पुष्पा एन, वालसन कोलेरी, प्रीतपाल सिंह लडी, कार्ल अंताओ और सुदर्शन शेट्टी जैसे महान कलाकारो ने भारत में आधुनिक मूर्तिकला के इतिहास का समग्र बखान किया है।

एनजीएमए का मूर्तिकला संग्रह निस्संदेह देश में सबसे संपन्न संग्रहों में एक है। गैलरी अपने संग्रह को और संपन्न बनाने में संलग्न है और इस उद्देश्य से यह उन सभी समकालीन कृतियों को जुटाने में लगा है जो संग्रह में प्रस्तुति के हकदार हैं।
 

शंख चौधरी

टॉयलेट, पत्थर, 67 सेमी

प्रदोश दासगुप्ता

इन बॉण्डेज, 63 X64 X103(H)सेमी बदल दिया गया

ए एम देवरीवाल्ला

इकारस, लौह, 29 X37 X14(H) सेमी

चिन्तामणि कर

फाइट, महोगनी की लकड़ी, 111.8 X29 X21.5 सेमी

पी पोछखांवाला

इरोजन, मिल्ड स्टील, 65 X42 X154(H) सेमी

धनराज भगत

बुल लकड़ी, 58 X23 X38(H) सेमी

वाल्सन कोलारी

स्कल्पचर, ब्रोंज, 35.2 X26.3 X26.2 सेमी

पी वी जानकीराम

किंग, ब्रास शीट एवं मेटल, 53.5 X51 X21(H) सेमी

एन एन रिमज़ोन

मैन इन ए चॉक सर्कल, रंगे फाइबरग्लास, 90 X60 X90.5(H) सेमी

मृणालिनी मुखर्जी

बसंती, हेम्प, 95 X75 X215(H) सेमी

हिम्मत शाह

हेड ऑन बोर्ड, टेराकोटा, 40.5 X33.5 X19.5(H) सेमी

मीरा मुखर्जी

स्पिरिट ऑफ डेली वर्क, ब्रोंज, 84 X31.5 X172(H) सेमी

लतीका कट्ट

जेराम पटेल पान खाते हुए, ब्रोंज, 39 X37 X40(H) सेमी

बलबीर सिंह कट्ट

नदेश्वर, काला मार्बल, 122 X91.5 X221(H) सेमी

एस. नन्दगोपाल

कृष्णा विद काउ, कॉपर ब्रास एनामेल, 104 X23 X88 सेमी

रविन्द्र रेड्डी

द गर्ल विद फ्लावर, फाइबरग्लास, 43 X36 X182 (H) सेमी

के एस राधाकृष्णन

फिगर II, ब्रोंज, 16 X 13 X 42(H)सेमी

शरबारी रॉय चौधरी

सिद्धेश्वरी, ब्रोंज़, 26 X 34 X 29(H) सेमी

मदन लाल

अनटाइटलड, मार्बेल, 83 X 72 X 18(H) सेमी

सतीश गुजराल

ट्री ऑफ लाइफ, बर्ण्ट वुड, 58 X19 X144 (H) सेमी

नेगी पटेल

वेट-01, ग्रेनाइट एण्ड ब्रास, 38 X23 X13(H) सेमी

 

लघुचित्र

तंजाउर एवं मैसूर

यूरोपियन पर्यटक कलाकार

कम्पनी काल

कालीघाट पेंटिंग

सैद्धान्तिक यथार्थवाद

बंगाल स्कूल

अमृता शेर-गिल

यामिनी राय

गगनेंद्रनाथ टैगोर

रवीन्द्रनाथ टैगोर

शांतिनिकेतन

सामूहिक कलाकार

भावप्रधान कला

1960 का कला आंदोलन

1970 का कला आंदोलन

समकालीन

आधुनिक मूर्तिकला

मुद्रण करना

फोटोग्राफी