English Website हिन्दी वेबसाइट
एनजीएमए मुंबई  |  एनजीएमए बंगलुरू

Wednesday, September 17, 2014


हमारा परिचय  |  इतिहास  |  शोकेस  |  प्रदर्शनी  |  संग्रह  |  प्रकाशन  |  देखने की योजना  |  हमसे संपर्क करें

आप यहां हैं:  होम  -  समाचार एवं मीडिया
समाचार एवं मीडिया

कला जगत में नए युग का सूत्रपात : नैशनल गैलरी ऑफ आर्ट के नए प्रखंड के उदघाटन के अवसर पर यूपीए अध्यक्षा सोनिया गाँधी के साथ मौजूद केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री अम्बिका सोनी और पर्यटन राज्य मंत्री श्रीमती कांति सिंह.
नई दिल्ली - 19 जनवरी, 2009

युनाइटेड प्रोग्रेसिव अलायंस की अध्यक्षा सोनिया गाँधी ने नैशनल गैलरी ऑफ मॉर्डन आर्ट के नए प्रखंड का उदघाटन करते हुए कहा कि यह भारत के कलाकारों की प्रतिभा एवं सर्जनात्मक क्षमता को उचित पहचान एवं सम्मान देगा।

कलाकारों, वास्तुकारों एवं संरक्षणवादियों से खचाखच भरे एनजीएमए सभागार में पारंपरिक दीप प्रज्वलित करते हुए श्रीमती गांधी ने इस बात पर जोर दिया कि नए प्रखंड को गैलरी के विकास की दिशा में अगला और उल्लेखनीय कदम माना जाएगा जिसके परिणामस्वरूप एनजीएमए एक वैश्विक संस्थान के रूप में प्रतिष्ठित होगा। 

"नया प्रखंड भारत की आधुनिक कला में नए युग का सूत्रपात है। मुझे उम्मीद है कि यहां अधिक संख्या में अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनियां लगेगीं जिनमें विभिन्न भूभागों से आने वाले विचार एवं प्रभाव एक दूसरे की कलाओं को और संपन्न बनाएंगे। एनजीएमए द्वारा नंदलाल बोस की कृतियों की प्रदर्शनी इस समय बेहद प्रासंगिक है। नंदलाल बोस आधुनिक भारतीय आंदोलन के एक प्रमुख प्रणेता और स्वतंत्रता सेनानी थे। दूसरी प्रदर्शनी है 'इन द सीडस ऑफ टाइम'। इन दो प्रदर्शनियों के शुभारंभ की यह बेला आधुनिक भारतीय कला में नए युग के सूत्रपात की घड़ी भी है,'' श्रीमती गांधी ने कहा। भारत की कला के तार बंबई प्रगतिशील कला आंदोलन समेत कई कला आंदोलनों से जुड़े होने की बात कहते हुए श्रीमती गांधी ने बताया, ' इस बात का सबूत है कि बाहरी प्रभावों के बादजूद यह प्रदेश राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय पहचानों को बरकरार रखने में सफल रहा है।'यह जिक्र करते हुए कि देश के पहले प्रधान मंत्री स्वयं पं. जवाहरलाल नेहरू ने ही आधुनिक भारतीय कला को संरक्षण देने का काम शुरू किया था, यूपीए अध्यक्षा ने कहा कि यह राष्ट्रीय पहचान में कलाकारों के महत्वपूर्ण योगदान को मिला मान-सम्मान है। 

श्रीमती गांधी ने कहा कि संग्रहालय का उद्देश्य लोगों को शिक्षित किए बिना पूरा नहीं हो सकता है। ''संग्रहालयों में अधिक से अधिक संख्या में लोगों को आकर्षित करना आवश्यक है। भूतपूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने एक बार कहा था कि मुझे इन संग्रहालयों में जितनी शिक्षा मिली वह मेरे स्कूलों में नहीं मिल पाई।'' 

एनजीएमए में हाल में हुई आधारभूत संरचना विकास से यह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ संग्रहालयों के समकक्ष हो गया है। इसके तहत एक स्थायी गैलरी, एक सभागर और अन्य सुविधाएं विकसित की गई हैं। उदघाटन समारोह की अध्यक्षता केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री अम्बिका सोनी ने की। पर्यटन राज्य मंत्री श्रीमती कांति सिंह विशिष्ट अतिथि थी। इस अवसर पर उपस्थित गणमान्य लोंगों में गृह राज्य मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल, दिल्ली की मुख्य मंत्री शीला दीक्षित और पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री शिवराज पाटिल, प्रसिद्ध कलाकार सतीश गुजराल एवं जतिन दास विशेष रूप से उल्लेखनीय हैं।
 

Mrs. Sonia Gandhi, Chairperson, UPA inaugurated the new wing
of the National Gallery of Modern Art

Mrs. Sonia Gandhi, Chairperson, UPA lighting the traditional
lamp
   
Mrs. Sonia Gandhi, Chairperson, UPA releasing NGMA
publications
Mrs. Sonia Gandhi, Chairperson along with Mrs. Ambika Soni,
Minister of Tourism & Culture visiting the gallery
   
   

 

अभिलेखागार